Friday, March 15, 2013

उसके जैसी लड़की शायद हर लड़की के अन्दर रहती है...

आज मैं एक ऐसी लड़की से मिली जिसे बचपन से ही सब एक तेज़ तर्रार मुंह फट लड़की के रूप में जानते है।  लेकिन उससे मिलने के बाद पता चला की वो कितनी सीधी और साफ़ दिल है। दुनिया उसे जिस रूप में जानती है वो तो सिर्फ उसका एक पहलू है। उसका दूसरा पहलू जिसे वो हमेशा सबसे छुपा कर रखती है वो तो बिलकुल ही अलग है। सपने देखने वाली, Romantic Films देखने वाली, Romantic गाने सुनने वाली एक आम लड़की, जिसके दिल में सभी के लिए बहुत प्यार है। पर वो इसे कभी किसी के सामने ज़ाहिर नहीं होने देना चाहती। उसने अपने इर्द - गिर्द एक दीवार बना रखी है, जिसके अन्दर न कोई आ सकता है और न ही कोई उसे उस दीवार के बाहर खींच सकता है। हमेशा से ही वो सबके लिए एक पहेली बनकर रही। जिसने भी उसे सुलझाने की कोशिश की वो खुद उसमें ही उलझता गया।

हर लड़की की तरह उसके अन्दर भी एक ऐसी लड़की है जो खुद को आइने में देख कर शरमा जाती है। वो भी चाहती है कोई हो जो लाल गुलाब से उसकी ज़िन्दगी के हर पन्ने को भर दे, उसकी तारीफ में प्यार भरी शायरी पढ़े, FM पर एक Romantic सा गाना उसके लिए dedicate करे। उसे एक लॉन्ग ड्राइव पर ले जाये, उससे नज़रों में बातें करे, और उसे इस तरह देखे जैसे वो दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की हो, जब धूप उसकी आँखों को सताये तो छांव बन कर उसपर बिछ जाये, जिसके काँधें पर सिर रखकर ज़िन्दगी की हर शाम गुज़र जाये। जिसके साथ वो आने वाले कल के सुनहरे सपने बुन सके, जो उसके लिए पूरी दुनिया से लड़ जाये,  जिसके लिए उसका एक एक आंसू मोती के बराबर हो, और उसके चहरे पर एक स्माइल लाने के लिए जो हर मुमकिन कोशिश करे। उसके रूठने पर उसे प्यार से मनाये, सॉरी के कार्ड्स दे, और प्यार से गले लगा कर कहे Jaan You are my Life, I cant live without you and promise I will never let you alone. 

मैंने पुछा उससे, क्या उसे कभी किसी से प्यार हुआ है तो उसका जवाब था हाँ। मैं सोच में पड़ गयी, ऐसी लड़की जो हमेशा खुद में खोई रहती है, जो प्यार से कोसो दूर रहने की नसीहतें देती है, अपनी ज़िन्दगी को बिंदास तरीक़े से जीती है, लडको से बात तो करती है लेकिन उनको अपने आस पास तक फटकने नहीं देती, ऐसी लड़की को किसी से प्यार कैसे हो सकता है??? न जाने क्यों, उसकी बात पर विश्वास करने को दिल नहीं कर रहा था। फिर भी मैं उसकी love Story जानने के लिए बहुत उत्सुक थी। उसे प्यार हुआ था, उसने जिया था उन पलों को जो उसकी ज़िन्दगी में बहुत ख़ास थे। जो उसके दिल के किसी कोने में आज भी एक अच्छी याद बनकर ज़िन्दा हैं। जिनसे वो चाह कर भी नफ़रत नहीं कर सकती। जिनकी याद आज भी उसके चहरे पर कभी आंसू बनकर आँखों से गिरती है तो कभी मुस्कान बनकर होठों पे खिल जाती है।

उससे मिलने के बाद मुझे महसूस हुआ कि उसके जैसी लड़की शायद हर लड़की के अन्दर रहती है। इसी तरह के सपने देखती है और चाहती है कोई हो जो उससे बे-इंतिहा प्यार करे। उसे ऐसी दुनिया में ले जाये जहाँ सिर्फ प्यार ही प्यार हो। बिलकुल एक Fairy tales स्टोरी की तरह।  

2 comments:

  1. बहूत सुंदर सुप्रिया, प्‍यार के लिए जरूरी है कि हम पहले अपने सेल्‍फ से प्‍यार करें. खुद की जिंदगी की खुशियों को इतना भर दें कि हमें देखने वाले लोग हमारी खुशियां देखकर खुशी से भ्‍ार जाएं. क्‍योंकि‍ खुश रहना जरूरी है....

    ReplyDelete
  2. आपकी बात से पूरी तरह सहमत है… जब हम खुद खुश रहते है तभी दूसरों की ज़िन्दगी मैं ख़ुशी ला सकते है…

    ReplyDelete